खिचड़ी (khichdi) का सेवन पेट के लिए हल्का होने के साथ ही काफी पौष्टिक भी माना जाता है। अगर आप भी घर पर बनने वाली खिचड़ी अधिक पौष्टिक बनाना चाहती है, तो यह सामग्री और टिप्स जरूर अपनाएं।

पौष्टिक खिचड़ी के लिए विशेष सामग्री-
nutritious khichdi

सामग्री :
250 ग्राम बासमती चावल,
100 ग्राम मूंग की दाल,
1 छोटी फूल गोभी
1 कटोरी मटर दाना,
2 मध्यम साइज के आलू,
1 टुकड़ा अदरक,
2 हरी मिर्च,
आधा चम्मच हल्दी,
थोड़ी-सी शक्कर,
2-3 खड़ी लाल मिर्च,
1/2 चम्मच जीरा,
चुटकीभर हींग,
1 चम्मच सफेद तिल,
3 लौंग,
2 छोटी इलायची,
1 टुकड़ा दालचीनी,
2 तेजपान के पत्ते,
1 बड़ा चम्मच देशी घी,
स्वादानुसार नमक,
1/2 कटोरी घी में तले हुए काजू के टुकड़े,
हरा धनिया।
नींबू।
परोसने के लिए अलग से घी, ज्यादा मात्रा में।

पौष्टिक खिचड़ी बनाने के आसान टिप्स-

– चावल को सबसे पहले तीन-चार बार पानी बदल कर हाथ से मसलकर धो लें।
– आलू को छीलकर लंबे टुकड़ों में काट लें।
– फूल गोभी को भी बड़े टुकड़ों में काट कर रख लें।
– अदरक कद्दूकस कर लें और हरी मिर्च काटकर रख लें।
– एक कड़ाही में मूंग की दाल को धीमी आंच पर गुलाबी होने तक भून लें। भूनते समय घी न डालें।
– अब इसमें घी, खड़ी लाल मिर्च, जीरा एवं हींग को छोड़कर बाकी सारी सामग्री मिलाएं।
– धुले हुए चावल मिलाकर 1/2 लीटर गरम पानी में धीमी आंच पर ढंककर पकाएं।
– यहां पानी आप अपनी जरूरत के अनुसार कम-ज्यादा कर सकते हैं।
– इस दौरान बीच-बीच में चलाती रहे। पूरी तरह पक जाए तो समझ लीजिए की आपकी खिचड़ी तैयार हैं।
– खिचड़ी परोसने से पहले 1 अलग बर्तन या छोटे पैन में घी गर्म करके खड़ी लाल मिर्च, जीरा, सफेद तिल और हींग का छौंक लगाकर खिचड़ी में ऊपर से डाल दें।
– अच्छी तरह मिलाएं।
– काजू के टुकड़ें बुरकाएं।
– हरा धनिया डालें और नींबू के साथ तैयार पौष्टिक खिचड़ी को गरमा-गरम सर्व करें।
– सर्व करते समय ऊपर से शुद्ध देसी घी डालें और खुद भी खाएं और परिवार वालों को भी खिलाएं।

इसके अलावा पौष्टिक खिचड़ी बनाने के लिए आप इसमें और सब्जियां भी डाल सकते हैं। कम मसालों का इस्तेमाल करके यानी सिर्फ हींग, जीरा और हल्दी का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। खिचड़ी में थोड़ासा बाजरे का आटा भी मिलाकर इसे बनाया जा सकता है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.